चुदासी चाची के बहुत मज़े लिए


मेरे परिवार मैं कुल ९ लोग थे. उनमे से एक मेरी चाची थी. उसके उम्र कुछ ३२ साल होगी, उसके एक ३ साल के बेटी भी थी जिसका नाम गुडिया था. मेरे पापा और चाचा कपरे के व्यापार करते थें. इसलिए वोह लोग काफी बाहर भी जाते थे व्यापार के लिए.

अब मैं अपनी चाची के बारे में बताने जा रहा हूँ. वो एक मामूली हाउस्वाइफ की तरह नहीं थी, वो काफी पढ़ी लिखी थी और काफी स्मार्ट भी थी. वह देखने में काफी खुबसूरत थी. उनकी चूची काफी अछी साइज़ की थी और उनका गांड बहुत मस्त था. उनका गांड बिलकुल गोल था. बेटी होने के बाद भी वोह काफी सेक्सी लगती थी. लेकीन इसके पहले मैंने उन्हें कभी ऐसे देखा नहीं था. वह मेरे एक दोस्त की तरह थी.

यह तब की कहानी हैं जब डेल्ही में काफी गर्मी पर रही थी. क्योंकी मेरा एक्साम निकट था इसलिए मुझे तेर्रस का रूम मिल गया था ता की मैं मन लगा के पढ़ सकू. परिवार में एक शादी का प्रोग्राम था. इसलिए घर के सब लोग जा रहे थे. मैं नहीं गया क्योंकि मेरे एक्साम सर पे थे. और मेरा ख्याल रखने के लिए मेरी चाची भी नहीं गयी. और गुडिया की तबियत भी कुछ अच्छी नहीं थी. मैं साम को घर वालो को बस स्टेशन छोड के घर आ गया. गुडिया की तबियत ठीक नही थी तो चाची ने कहा डॉक्टर के पास चलते हैं. मेरे पास मोटर साइकिल थी तो बोला आप तयार हो जाओ फिर चलते हैं. वोह अपने कमरे में चली गयी.थोरी देर बाद वोह तयार होके बाहर आ गयी. उन्होंने सलवार सुइट पहना था. और अपनी चूची पे दुप्पटा डाल रखा था. उस ड्रेस में वो काफी अछी लग रही थी.

साम के ७ बजे होंगे और हम मोटर साइकिल पे डॉक्टरसे मिलने के लिए चल पड़े . कुछ ३० मिनट की दुरी पे डॉक्टर था. हम वहां ७:३० तक पहुँच गए. काफी लाइन लगी थे डॉक्टर से मिलने के लिए. थोडा इन्तेज्ज़ार करने के बाद हम डॉक्टर से मिले. उसने कहा की गुडिया को बुखार हैं, थोडा खाने पे ख्याल रखना और बोला हो सके तो कुछ दिनों तक स्तन का दूध ही पिलाना . फिर हम दवा लेके वहां से निकले . रात के ९:३० बजे होंगे औत थोरी थोरी बारिस होने लगे थी.मैं बाइक जोर से चला रहा था ताकि हम भींग न जायं. तभी अचानक से एक कार ने मेरा रास्ता काट दिया और मेरा बैलेंस गड़बड़ा गया. मैं बाइक लेके गिर पड़ा और चाची मेरे ऊपर आ गिरी. मैं मुह के बल गिरा और वो मेरे ऊपर आ गिरी और पहली बार मैंने उनकी चूची महसूस की उनकी चूची काफी नरम थी बात उस वक़्त उस सब का टाइम नहीं था. मैं उठा और उनको भी उठाया. मैंने उनसे पुछा की चोट तो नहीं लगी उन्होंने कहा थोरी सी लगी हैं टांगो में . गुडिया ठीक थी. मैंने उनसे कहा अब की बार दोनों तरफ टांग कर के बैठो . मैंने गुडिया को सामने ले लिया और वोह मेरे पीछे आ गयी. उनको सायद काफी चोट लगी थी, उसने दोनों हाथ मेरे कंधे पे रखे और कहा चलो घर. क्योंकी गुडिया सामने थी तो बार बार उनके चूची मेरी पीठ को छु रही थी. मुझे मज़ा आने लगा. मैंने एक दो बार जान भुज के भी ब्रेक मारा. हर बार उनकी दो नरम नरम चूची मेरी पीठ को छु रही थी .थोरी देर में घर आ गया. मैंन बाइक की सवारी के बहुत मज़े लिए. पहले बार लग रहा था की घर थोडा और दूर होता तो अच्छा होता.


Online porn video at mobile phone


antarvasna bhabhi hindiantarvasna hindi story pdfindian sex stories in hindihindi xxx sexwww.antarwasna.comantarvasna chachi bhatijasexi storydesi xossipdidi sexchut picgirl antarvasnasavitabhabijabardasti chodasex with friends wifeantarvasna with imageantarvasna sexstory comsex with tailorantarvasna 2014didi ki chudaihindi sex storieantarvasna xxx storylatest sex storieskamukta .comsex story in hindi antarvasnasasur ne bahu ko chodachut antarvasnajabardasti chodaantarvasna video sexxossip auntyantarvasna phone sexantarvasna sexymarathisexstoriessexstoryindiansexstoryantarvasna story downloadaunty ki gandindian sex stiriespunjabi sex storiesindian hindi sex storiesantarvasna behanantarvasna bhabhi storyanjali sexysex kadalusexi storiestution sexkamuk kahanidesi kahaniyanantarvasna hindi newantarvasna risto mesex story antarvasnahindi sexstoryx** sexyantarvasna com hindi mehind sexaunty ko chodabhabi devar sexantarvasna kahani hindimother sex storiessexy antarvasna storyantarvasna pornantarvasna com marathiantarvasna hindi new storyantarvasna com hindi mesexey girlschachi ki chudaisex story.comfree antarvasna comindian incest storyantarvasna xxx storychudai imagefree desi sexporn antarvasnaantarvasna in hindixxx hindi storyantravasna.comantarvasna hindi stories galleriesdesi family sexantarvasna com new storyantarvasna story downloadchut picantarvasna jokesantarvasna balatkarantarvasna kahani in hindiantravasna storysex story in marathiantarvasna hindi kahaninew antarvasnahindi sex storifree antarvasna storyindian sex storieantarvasna com hindi kahanimaa ki chudai antarvasna