मेरी चाची की सेक्सी गॅंड


Chachi ki sexy gand mari हेलो दोस्तो, मेरा नाम विजय है और मैं अपने चाचा-चाची और मम्मी- पापा के साथ बरोडा मे ही रहता हूँ. मेरी स्टडी भी वही से हो रही है. दोस्तो, ये कहानी तब की है जब मेरे चाचा भोपाल शिफ्ट हो गये थे यानी उनके ऑफीस की तरफ से भोपाल पोस्टिंग हो गई थी और चाची को भी उन्ही के साथ ही रहना था. प्यार भरा परिवार चुदाई स्टोरी

दोस्तो, मैने आपको अपने चाचा जी का नाम तो बताया ही नही, उनका नाम नीरज है और मेरी चाची का नाम पिंकी है और उनकी अभी नयी-नयी शादी हुई और मेरी चाची एक दम मस्त पटाका माल है.

चाचा जी एक गवर्नमेंट एंप्लायी है और उन्होने भोपाल जाने के लिए एक ट्रक भी बुक करलिया था. चाची ने मुझे भी साथ चलने को कहा ताकि वो कुछ दिन खुद को अकेला ना महसूस कर सके और उनके कहने पर मैने भी ना नही करी क्योकि तब मेरी कॉलेज की छुट्टिया पड़ रखी थी.

अब हमने चाचा-चाची के रहने का समान ट्रक मे चढ़वाया और खुद भी शाम के 6 बजे बरोडा से भोपाल के लिए चल पड़े. चाचा आगे ट्रक ड्राइवर के साथ बैठे थे और मैं और चाची पीछे बैठे थे. पीछे बहोत सारा समान भी था जिसके बीच मे चाची ने एक गद्दा बिछा रखा था और उस पर हम दोनो आराम से बैठ गये थे.

चाची और मैं खूब बातें मारते हुए जा रहे थे और ट्रक ड्राइवर ने भी गाने लगा रखे थे जिसकी वजह से बहोत अछा महॉल बन रखा था. चाचा आगे बैठे ड्राइवर से बाते मार रहा था और मैं और चाची पीछे बैठे बाते मार रहे थे. हम 6 बजे करीब बरोडा से निकल लिए थे और रास्ते मे एम.पि बॉर्डर पर हमने खाना भी खा लिया था.

अब अंधेरा भी पड़ना शुरू हो गया था और मैं चाची के चिकने बदन को निहारे जा रहा था. उनका चिकना बदन उछाल-उछाल कर मेरे सामने आ रहा था और ये देख कर मेरा लंड पागल हो रहा था. ट्रक टूटते-फूटते रस्तो मे से भी जा रहा था जिससे हम दोनो एक दूसरे से टकरा जाते थे.

चाची के मूह से आआहह निकल गई और फिर उन्होने चद्दर को उपर करके मुझे इशारा दिया की करेंगे ज़रूर पर बाहर नही चद्दर के अंदर. मैने भी उनकी बात को समझा और उनकी गॅंड को अपने हाथो से छेड़ने लग गया.

फिर मैं चाची के बूब्स को हाथ मे लेकर दबाने लग गया और चाची भी लंबी लंबी सिसकारिया भरने लग गई. मुझे उनके छोटे-छोटे बूब्स दबाने मे बहोत मज़ा आ रहा था और चाची ने भी अब मेरे लंड को पैंट के उपर से पकड़ लिया और ज़ोर ज़ोर से मसलने लग गई.

मुझे भी उनके ऐसे करने से खूब मज़ा आ रहा था और अब मैं उनकी कमीज़ को उतारकर अलग कर दिया और अपना हाथ नीचे लेजा कर नाडा खोल कर मैने सलवार नीचे कर दी और चाची भी मेरे लंड को हाथ मे लेकर ज़ोर ज़ोर से मसलना शुरू कर दिया.

Dont Post any No. in Comments Section

Your email address will not be published. Required fields are marked *


Online porn video at mobile phone


bhanji ki chudaimummy ki chudaiantarvasansex khanireshmasexantarvasna padosancall boysmy hindi sex storiessexy reshmafree antarvasna storynew hindi sex storysexy khaniyabengali porn storysex stories in englishpunjabi sex storiesantarvasna mp3 downloadsexikhaniyahot sex storykutte se chudaimarryhelphindi long sex storiesantarvasna with photossex kahani hindiantarvasna sex videoxxx hindi kahanigay sex stories indianantarvasna hantarvasna video clipsantarvasna storiessali ko chodaindian sex storybhabhi ki gaandantarvasna sitegirl antarvasnadaughter and father sexchut chudaisaxy storysaxybhabhiantarvaasnaodia sex storyvelamma sex storiesbhabhi ki antarvasnalatest desi kahanihot bhabi sexindian porn storiesantarvasna new hindichut picantarvasna risto me chudaiantarwashnaindian gay sex stories?????? ????? ??????aunty ki antarvasnamom sex stories????? ?????chudai ki kahanifree antarvasna storyaudio antarvasnanon veg storyantarvasna jijalatest desi kahanisite:antarvasnasexstories.com antarvasnaantervasna.comantarvasna auntysexy indian modelsindian sex in parksex storysdesi sexybhabhi gandsavita bhabhi sex stories????? ?????kamukata storyindian sex storysxxx hindi storiesm antarvasna hindichachi ki chudaiantarvasna story maa betaantarvasna bhabhi devarantarvasna with photosantarvasna kahani in hindi